त्वचा का कालापन इन आसान उपायों से हटाएं

लगभग सभी महिलाओं की ये इच्छा होती है कि उनकी त्वचा किसी भी प्रकार के दाग-धब्बों से दूर रहें। गर्मियों में अक्सर त्वचा पर सूरज की गर्मी के कारण कालापन आ जाता है जिसको टैनिंग भी कहते हैं। टैनिंग से निजात पाना बेहद मुश्किल होता है। इसके लिए सैलून में जाकर ट्रीटमेंट लेना पड़ता है। लेकिन आप स्वयं भी आसानी से अपनी त्वचा का कालापन निकाल सकती हैं। इसके लिए ना तो आपको बाहर जाने की ज़रूरत है और ना ही महंगे उत्पादों पर पैसे ख़र्च करने की आवश्यकता।

इन आसान तरीकों से सूरज से जली हुई त्वचा का कालापन दूर कर सकती हैं

  1. एक नीम्बू को काटकर उसे काली पड़ी त्वचा पर अच्छी तरह से रगड़ें और 10 मिनट तक रखें। बाद में ठन्डे पानी की सहायता से धो लें। ऐसा रोज़ करने से त्वचा का कालापन दूर हो जाएगा।
tvacha ka kaalaapan in aasaan upaayon se hataen

2. एक चौथाई खीरे को मिक्सी में पीस कर एक पेस्ट बना लें। उसमें एक चम्मच नीम्बू का रस और एक चम्मच गुलाबजल मिला कर काले भाग पर लगाएं। 20 मिनट के बाद धो लें, त्वचा का कालापन दूर हो जायेगा।

tvacha ka kaalaapan in aasaan upaayon se hataen

3. दो चम्मच लाल मसूर की दाल लगभग 20 मिनट तक भिगो कर रखें। 20 मिनट बाद उसको मिक्सी में पीस लें। इस पेस्ट में दो चम्मच एलोवेरा जेल और एक चम्मच टमाटर का पेस्ट मिला कर काली पड़ी हुई त्वचा पर लगाकर 20 मिनट तक रखें। सूख जाने पर ठन्डे पानी से धो लें। बस इतनी ही देर में त्वचा का कालापन गायब हो जायेगा।

tvacha ka kaalaapan in aasaan upaayon se hataen

4.आधा कप पके हुए पपीते के पेस्ट में एक चम्मच शहद मिला लें। इस मिश्रण को अपनी त्वचा पर लगाएं। एक सप्ताह तक रोज़ाना इस्तेमाल के बाद आपकी त्वचा का कालापन हमेशा के लिए दूर हो जाएगा।

tvacha ka kaalaapan in aasaan upaayon se hataen

5.एक चम्मच दही में एक चम्मच टमाटर की प्यूरी मिलाकर त्वचा पर लगाएं। सूख जाने पर धो लें।

tvacha ka kaalaapan in aasaan upaayon se hataen

6.संतरे के छिलकों को सुखा कर उनका पाउडर बना लें। एक चम्मच पाउडर में एक चम्मच शहद और एक चम्मच नीम्बू का रस मिला कर लगाने से भी त्वचा का कालापन दूर होता है।

tvacha ka kaalaapan in aasaan upaayon se hataen

7.आलू को कद्दूकस करके उसका रस निचोड़ लें। उस रस में समान मात्रा में नीम्बू का रस मिलाकर त्वचा पर लगाएं इससे त्वचा का कालापन चला जाता है।

tvacha ka kaalaapan in aasaan upaayon se hataen

जननम कहे हां

  • सूरज की किरणों से त्वचा का बचाव
  • टैनिंग दूर करने के लिए घरेलू उपचार का इस्तेमाल

जननम कहे ना

  • बाज़ार में उपलब्ध सनस्क्रीन का त्वचा पर इस्तेमाल
  • . सूरज की गर्मी में बिना चेहरा ढंके निकलना

सारांश :  त्वचा का कालापन दूर करने के लिए घरेलू उपचार सबसे बेहतर विकल्प होते हैं। नींबू, खीरा, गुलाबजल, मसूर दाल, टमाटर, दही, शहद, पपीता, एलोवेरा जेल, आलू, संतरे के छिलके आदि घर पर आसानी से उपलब्ध होने वाली सामग्रियों का उपयोग करके आप अपनी त्वचा का कालापन हटा सकती हैं।

Summary: Home remedies are the best option for removing black skin. You can remove black skin of your skin using lemon, cucumber, rose water, lentil pulse, tomato, curd, honey, papaya, aloe vera gel, potato, orange peel, etc., which is easily available at home.

आज ही जननम फेसबुक कम्युनिटी को ज्वाइन करें जहां हमारे एक्सपर्ट्स प्रेगनेंसी के हर पहलू पर टिप्स दे रहे हैं - यहाँ क्लिक करें

जननम आपको सही, सटीक और उपयोगी जानकारी उपलब्ध कराने के लिए हमेशा आपके साथ हैं। लेकिन इसी के साथ आपको डॉक्टर से सलाह लेना भी ज़रूरी है।

 


Other articles related to this

गर्भावस्था में अपना ख्याल बहुत अच्छी तरह से रखने की ज़रूरत होती है, क्योंकि अगर आप स्वस्थ हैं तो गर्...

शरीर के बाकी हिस्सों की तरह मुंह की सफ़ाई सबसे अहम होती है। ख़ासकर दांतों को स्वस्थ रखना और मसूड़ों ...

गर्भावस्था किसी भी महिला के जीवन में परिवर्तन का समय होता है। इस दौरान, महिलाओं के शरीर में कई हार्म...

महिलाओं को गर्भधारण के बाद जो सबसे पहली बात ध्यान में रखनी पड़ती है, वो है संतुलित, पोषक और नियमित आह...

कुछ समय पहले तक घर में होने वाली किसी भी खुशी को मनाने के लिए गुड़ से मुँह मीठा करने की प्रथा थी। यह...

गर्भावस्था में पौष्टिक खाद्य की महत्ता किसी से भी छुपी नहीं है। यह एक माँ और होने वाले शिशु के स्वस्...

Other articles related to this

गर्भावस्था में अपना ख्याल बहुत अच्छी तरह से रखने की ज़रूरत होती है, क्योंकि अगर आप स्वस्थ हैं तो गर्भ में पल रहा शिशु भी सेहतमंद होता है। ऐसे में आपकी इम्युनिटी सीधे तौर पर शिशु से जुड़ी होती है। इसलिये मां जो

शरीर के बाकी हिस्सों की तरह मुंह की सफ़ाई सबसे अहम होती है। ख़ासकर दांतों को स्वस्थ रखना और मसूड़ों की मज़बूती। गर्भावस्था के दौरान और बच्चे को जन्म देने के

गर्भावस्था किसी भी महिला के जीवन में परिवर्तन का समय होता है। इस दौरान, महिलाओं के शरीर में कई हार्मोनल परिवर्तन होते हैं, जो उनकी त्वचा और बालों की गुणवत्ता और बनावट को प्रभावित करते हैं।

महिलाओं को गर्भधारण के बाद जो सबसे पहली बात ध्यान में रखनी पड़ती है, वो है संतुलित, पोषक और नियमित आहार। गर्भ के पहले तीन महीने शिशु के विकास की दृष्टि से सबसे अधिक महत्वपूर्ण होते हैं

कुछ समय पहले तक घर में होने वाली किसी भी खुशी को मनाने के लिए गुड़ से मुँह मीठा करने की प्रथा थी। यही गुड़ आज भी बहुत से घरों में खाने के बाद मुखवास के तौर पर खाया जाता है।

गर्भावस्था में पौष्टिक खाद्य की महत्ता किसी से भी छुपी नहीं है। यह एक माँ और होने वाले शिशु के स्वस्थ्य को सुनिश्चित करने का सबसे प्राकृतिक तरीका है। अनगिनत वर्षो से चली आ रही समृद्ध भारतीय विरासत में ऐसे कई

जननम कम्युनिटी से जुड़ने के फायदे!

Join the #1 global parenting resource and start receiving the following helpful newsletter:

Join the community now!

Fill the following & enjoy perks!

Due Date or child's birthday