सामान्य डिलीवरी के बाद कौन सी सावधानियाँ बरतें

एक महिला के लिए माँ बनना सबसे बड़ा सुख होता है। वह हमेशा यह चाहती है कि उसका बच्चा स्वस्थ पैदा हो और सामान्य तरीके से पैसा हो जिसे ‘नार्मल डिलीवरी’ भी कहते हैं। मगर सामान्य डिलीवरी का अर्थ यह नहीं कि इसके बाद आपको देखभाल की आवश्यकता बिलकुल ही नहीं है या आपकी जिम्मेदारियाँ कम हो जाती हैं। सामान्य डिलीवरी के बाद भी खुद का ध्यान रखना आवश्यक होता है।

जननम की सलाह : सामान्य डिलीवरी के बाद भी अपना ख्याल रखें

इस लेख में आप पढ़ेंगी :-

सामान्य डिलीवरी के बाद कौन सी सावधानियाँ बरतें

पैड का प्रयोग करें

प्रसव के बाद शरीर वापस अपनी स्थिति मे आने के लिए कई प्रक्रियाओं से गुजरता है। लोचिया एक ऐसी ही प्रक्रिया है, जहां आपके शरीर से मासिक धर्म के जैसा खून बहता है। यह प्रक्रिया छह सप्ताह तक चल सकती है, जहां संक्रमण से ग्रसित होने की संभावना होती है। इस अवधि में पैड का उपयोग करना बेहतर होता है क्योंकि वे किसी भी संक्रमण की संभावना को कम करते हैं।

सामान्य डिलीवरी के बाद कौन सी सावधानियाँ बरतें

योनि क्षेत्र के आसपास का ख्याल रखें

योनि क्षेत्र के आसपास दर्द हो सकता है। इसके लिए आइस पैक का प्रयोग किया जा सकता है। योनि के साथ सीधे संपर्क से बचने के लिए, पैक को मुलायम तौलिये में लपेट कर इस्तेमाल करें। इसके अलावा इस क्षेत्र की साफ-सफाई का भी ख्याल रखें।

सामान्य डिलीवरी के बाद कौन सी सावधानियाँ बरतें

आवश्यक आराम लें

पर्याप्त आराम और अच्छी नींद एक माँ की प्राथमिक जरूरत होती है। नवजात शिशु को अधिक देखभाल की आवश्यकता होती है। इस अनुसार अपनी नींद का पैटर्न बदलें। यह अनकहा नियम है कि जब बच्चा सो जाता है, तो आप भी सो जाएँ। पहले कुछ हफ्तों में अपने बच्चे की देखभाल के अलावा घर की अतिरिक्त जिम्मेदारियां न लें। अपने आप को थकान से बचाएं।

सामान्य डिलीवरी के बाद कौन सी सावधानियाँ बरतें

अपने पोषण का ख्याल रखें

अक्सर माताएँ अपनी जिम्मेदारियों का ख्याल रखते हुए खुद को नजरअंदाज कर देती हैं। वह समय पर खाना नहीं खातीं या अपने भोजन का ख्याल नहीं रखतीं। लेकिन स्तनपान कराने वाली माताओं को अच्छी तरह से खाना चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि उनका पोषण पूरा हो। स्वयं और शिशु के लिए लाभकारी पोषक तत्वों में समृद्ध खाद्य पदार्थ खाएं। अनाज, सब्जियां, डेयरी, फल, प्रोटीन फलियों के साथ अपने आहार को संतुलित बनाएँ। आपका आहार प्रोटीन, आयरन और कैल्शियम से भी समृद्ध होना चाहिए।

सामान्य डिलीवरी के बाद कौन सी सावधानियाँ बरतें

तरल पदार्थों का सेवन करें

अतिरिक्त ज़िम्मेदारी और शरीर के पूरा फिट न होने की वजह से थकान होना आम है। थकान को दूर करने के लिए बहुत सारे तरल पदार्थों का सेवन करें। कब्ज से बचने के लिए भी बहुत सारा पानी पीना महत्वपूर्ण है। फाइबर से समृद्ध भोजन करें और अच्छी मात्रा में पानी पीकर इसे संतुलित करें।

सामान्य डिलीवरी के बाद कौन सी सावधानियाँ बरतें

शरीर को सक्रिय रखें

अपने शरीर को सक्रिय रखें। डॉक्टर की सलाह पर टहलना शुरू करें और अपनी मांसपेशियों को मजबूत करने के लिए चलने की कोशिश करें। खुद को सक्रिय रख कर आप जल्द ही पहले जैसी स्वस्थ हो पाएँगी।

सामान्य डिलीवरी के बाद कौन सी सावधानियाँ बरतें

परिवार की सहायता लें

आप कितना भी चाहें, मगर सब कुछ नहीं कर सकतीं। इसलिए अपने परिवार की मदद लें। अपने पति के साथ अपनी जिम्मेदारियाँ बांटें, ताकि आपको पर्याप्त नींद और आराम मिल सकें।
सामान्य डिलीवरी मे भी शरीर मे फिर से वही ऊर्जा और चुस्ती लाने मे 6 से 8 सप्ताह तक का समय लग सकता है। कई स्थितियों मे यह ज्यादा भी हो सकता है। इसलिए संयम से काम लें। शिशु की देखभाल के साथ स्वयं का भी उतना ही ख्याल रखें।

Summary : Giving birth to a baby through a normal delivery is a satisfying experience, and definitely a better option if your pregnancy is healthy. But you still need to take good care of yourself post delivery, and follow some precautions after child birth including continuing a healthy, balanced diet, sleeping well and keeping yourself active, while keeping your vaginal area clean and protected.

सारांश : सामान्य डिलीवरी के माध्यम से बच्चे को जन्म देना एक संतोषजनक अनुभव है, और निश्चित रूप से एक बेहतर विकल्प यदि आपकी गर्भावस्था स्वस्थ है। लेकिन आपको अभी भी प्रसव के बाद खुद की अच्छी देखभाल करने की आवश्यकता है, और बच्चे के जन्म के बाद कुछ सावधानियों का पालन करें, जिसमें स्वस्थ, संतुलित आहार, अच्छी नींद लेना और खुद को सक्रिय रखना शामिल है।

आज ही जननम फेसबुक कम्युनिटी को ज्वाइन करें जहा हमारे एक्सपर्ट्स प्रेगनेंसी के हर पहलु पर टिप्स दे रहे है - यहाँ क्लिक करें
जननम आपको सही, सटीक और उपयोगी जानकारी उपलब्ध करने के लिए हमेशा आपके साथ हैं। लेकिन इसी के साथ आपको डॉक्टर से सलाह लेना भी ज़रूरी है।


Other articles related to this

बरसात का मौसम किसे पसंद नहीं होता। वर्षा की बूँदें गर्मी की तपन को दूर करने के साथ-साथ एक खुशनुमा मा...

वसंत का मौसम त्वचा के लिए दुविधा भरा होता है। इस समय में त्वचा को बहुत अधिक मॉइस्चराइज करने की भी आव...

बच्चों की देखभाल करते समय हम हमेशा उनके भोजन, त्वचा, बालों और नींद पर ध्यान देते हैं। लेकिन हम सभी य...

बच्चों की त्वचा इतनी नाज़ुक होती है कि उसे छूने में भी डर लगता है कि कहीं कुछ परेशानी ना हो जाए। फिर ...

मां बनना हर महिला के लिए ख़ुशी का पर्याय होता है, लेकिन गर्भावस्था के दौरान या बाद में बहुत-सी शारीर...

जिस नन्ही सी जान का माँ को नौ महीने बेसब्री से इंतज़ार था, आखिर वो इस दुनिया में आ ही गया। उस प्यारे...

Other articles related to this

बरसात का मौसम किसे पसंद नहीं होता। वर्षा की बूँदें गर्मी की तपन को दूर करने के साथ-साथ एक खुशनुमा माहौल भी लेकर आती हैं। जहाँ एक ओर बारिश की वजह से गर्मी में राहत मिलती है, वहीं दूसरी ओर बालों और

वसंत का मौसम त्वचा के लिए दुविधा भरा होता है। इस समय में त्वचा को बहुत अधिक मॉइस्चराइज करने की भी आवश्यकता नहीं होती और मॉइस्चराइज न करने पर रूखापन भी महसूस होता है। ऐसे में बाज़ार में उपलब्ध मॉइस्चराइज़र

बच्चों की देखभाल करते समय हम हमेशा उनके भोजन, त्वचा, बालों और नींद पर ध्यान देते हैं। लेकिन हम सभी ये भूल जाते हैं कि इन सभी के साथ-साथ बच्चों के हाथों और पैरों की देखभाल भी उतनी ही आवश्यक है।

बच्चों की त्वचा इतनी नाज़ुक होती है कि उसे छूने में भी डर लगता है कि कहीं कुछ परेशानी ना हो जाए। फिर सोचिए कि उसकी त्वचा पर कोई केमिकल युक्त स्क्रब का इस्तेमाल आप कैसे कर सकती हैं?

मां बनना हर महिला के लिए ख़ुशी का पर्याय होता है, लेकिन गर्भावस्था के दौरान या बाद में बहुत-सी शारीरिक परेशानियां भी होती हैं। उनमें से एक दांतों और मसूड़ों की समस्याएं हैं। इन सभी समस्याओं की एक ख़ास वजह शरीर में आने वाले

जिस नन्ही सी जान का माँ को नौ महीने बेसब्री से इंतज़ार था, आखिर वो इस दुनिया में आ ही गया। उस प्यारे से, नन्हे से बच्चे के आने से तो माँ के मन में केवल ख़ुशी की तरंगे लहरनी चाहिए! तो फिर नई माँ को हो रही यह गंभीर उदासी क्या हैं? इसे

जननम कम्युनिटी से जुड़ने के फायदे!

Join the #1 global parenting resource and start receiving the following helpful newsletter:

Join the community now!

Fill the following & enjoy perks!

Due Date or child's birthday