गर्भावस्था और इसके बाद इन 8 घरेलू उपायों से अपने बाल रखें सेहतमंद

गर्भावस्था किसी भी महिला के जीवन में परिवर्तन का समय होता है। इस दौरान, महिलाओं के शरीर में कई हार्मोनल परिवर्तन होते हैं, जो उनकी त्वचा और बालों की गुणवत्ता और बनावट को प्रभावित करते हैं।

पौष्टिक आहार

गर्भावस्था के दौरान बाल झड़ने की समस्या से छुटकारा पाने के लिए खाने में फलों, हरी सब्जियों और सूखे मेवों (Dry fruits) को शामिल करें। इन्हें खाने से शरीर में सभी पोषक तत्वों की कमी पूरी हो जाती है और बाल नहीं गिरते हैं।

गर्भावस्था और इसके बाद इन 8 घरेलू उपायों से अपने बाल रखें सेहतमंद

 तेल मालिश

गर्भावस्था के दौरान बालों की देखभाल के लिए सबसे अच्छा घरेलू उपचार तेल मालिश है। बादाम, जैतून, तिल, अरंडी, नारियल, जोजोबा, लैवेंडर, रोज़मेरी या लेमनग्रास तेलों से बालों की मालिश की जा सकती है।

गर्भावस्था और इसके बाद इन 8 घरेलू उपायों से अपने बाल रखें सेहतमंद

 नारियल दूध

जिन महिलाओं को गर्भावस्था के बाद बाल झड़ने की समस्या से दो चार होना पड़ता है, उन्हें हफ्ते में 3 बार नारियल के दूध से बालों की मालिश करनी चाहिए। ऐसा करने से कुछ ही दिनों में बाल का गिरना रूक जाएगा।

गर्भावस्था और इसके बाद इन 8 घरेलू उपायों से अपने बाल रखें सेहतमंद

दही

दही के इस्तेमाल से भी बालों को सुरक्षित किया जा सकता है। एक कटोरी दही लें और इसे बालों में लगाएं। 10 मिनट तक इसे बालों में लगा रहने दें। इसके बाद बालों को शैपू से धो लें। इस प्रक्रिया को हफ्ते में 3 बार अपनाएं। लगातार इस प्रक्रिया को दोहराने से बाल मुलायम होने के साथ-साथ झड़ने भी बंद हो जाएंगे।

गर्भावस्था और इसके बाद इन 8 घरेलू उपायों से अपने बाल रखें सेहतमंद

प्याज

बालों का गिरना रोकने में प्याज का रस भी कारगर साबित होता है। प्याज को कद्दूकस कर लें। इसके बाद उसका रस अच्छे से निचोड़ लें। अब उंगलियों की मदद से इसे बालों की जड़ों में लगाएं। आधे घंटे बाद बालों को शैम्पू से धो लें।

गर्भावस्था और इसके बाद इन 8 घरेलू उपायों से अपने बाल रखें सेहतमंद

आंवला

आंवला विटामिन सी से भरपूर पोषक तत्व है। ये बालों को बढ़ाने के साथ-साथ चमकीला बनाने में भी मदद करता है।

गर्भावस्था और इसके बाद इन 8 घरेलू उपायों से अपने बाल रखें सेहतमंद

 मुलेठी

गर्भावस्था के दौरान बालों की जड़ों में मुलेठी लगाने से बाल मज़बूत होते हैं और इनमेंरूसी भी नहीं होती। 

गर्भावस्था और इसके बाद इन 8 घरेलू उपायों से अपने बाल रखें सेहतमंद

मेथी के बीज

एक कप पानी में एक चम्मच मेथी रात भर भिगो दें। सुबह इसे पीसकर चिकना पेस्ट बना लें और बालों पर लगाएं। इस पेस्ट को एक घंटे तक बालों पर लगा रहने दें, फिर इसे धो लें। इससे बाल मज़बूत होते हैं।

गर्भावस्था और इसके बाद इन 8 घरेलू उपायों से अपने बाल रखें सेहतमंद

जननम कहे हां

  • प्राकृतिक तेल
  • नियमित देखभाल
  • सिर की मालिश

 जननम कहे ना

  • बालों को रंगना
  • बाज़ारू तेल
  • चिंता और तनाव

सारांश  : गर्भावस्था के दौरान, कई तरह के हार्मोनल परिवर्तनों के कारण महिलाओं में बालों से संबंधित समस्याएं आम हैं। इनसे बचने के लिए प्राकृतिक रूप से उपलब्ध घरेलू उत्पाद और जड़ी-बूटियाँ बेहद प्रभावी और उपयोगी हो सकती हैं। जैसे नारियल दूध, दही, प्याज, आंवला, बादाम और जैतून का तेल आदि इस्तेमाल करके आप अपने बालों को स्वस्थ रख सकती हैं।

Summary: During pregnancy, problems related to hair are common among women due to many types of hormonal changes. To avoid these, the naturally available household products and herbs can be very effective and useful. You can keep your hair healthy by using coconut milk, yogurt, onion, amla, almonds and olive oil.

यह भी पढ़ें : -

आज ही जननम फेसबुक कम्युनिटी को ज्वाइन करें जहां हमारे एक्सपर्ट्स प्रेगनेंसी के हर पहलू पर टिप्स दे रहे हैं -यहाँ क्लिक करेंजननम आपको सही, सटीक और उपयोगी जानकारी उपलब्ध कराने के लिए हमेशा आपके साथ हैं। लेकिन इसी के साथ आपको डॉक्टर से सलाह लेना भी ज़रूरी है।


Other articles related to this

मां बनना हर महिला के लिए ख़ुशी का पर्याय होता है, लेकिन गर्भावस्था के दौरान या बाद में बहुत-सी शारीर...

प्राणायाम हर किसी के लिये ज़रूरी है। गर्भवती महिलाओं और नयी माताओं के लिए यह इसलिए अहम हो जाता है, क...

गर्भावस्था में हल्के-फुल्के व्यायाम शरीर को लचीला बनाने में मदद करते हैं। प्रेगनेंसी के दौरान आप ...

गर्भावस्था एक अनमोल समय होता है। यह नौ महीनों का समय आपके लिए अत्यंत मूल्यवान होता है। ऐसे मे आपको अ...

लगभग सभी महिलाओं की ये इच्छा होती है कि उनकी त्वचा किसी भी प्रकार के दाग-धब्बों से दूर रहें। गर्मियो...

गर्भावस्था में अपना ख्याल बहुत अच्छी तरह से रखने की ज़रूरत होती है, क्योंकि अगर आप स्वस्थ हैं तो गर्...

Other articles related to this

मां बनना हर महिला के लिए ख़ुशी का पर्याय होता है, लेकिन गर्भावस्था के दौरान या बाद में बहुत-सी शारीरिक परेशानियां भी होती हैं। उनमें से एक दांतों और मसूड़ों की समस्याएं हैं। इन सभी समस्याओं की एक ख़ास वजह शरीर में आने वाले

प्राणायाम हर किसी के लिये ज़रूरी है। गर्भवती महिलाओं और नयी माताओं के लिए यह इसलिए अहम हो जाता है, क्योंकि इससे जहां तनाव निकल जाता है और शरीर

गर्भावस्था में हल्के-फुल्के व्यायाम शरीर को लचीला बनाने में मदद करते हैं। प्रेगनेंसी के दौरान आप स्वस्थ रहें और आपका बच्चा भी सुरक्षित इस दुनिया में

गर्भावस्था एक अनमोल समय होता है। यह नौ महीनों का समय आपके लिए अत्यंत मूल्यवान होता है। ऐसे मे आपको अपना एक सीमित वजन भी बढ़ाना होता है जो आपके लिए तो ज़रुरी है

लगभग सभी महिलाओं की ये इच्छा होती है कि उनकी त्वचा किसी भी प्रकार के दाग-धब्बों से दूर रहें। गर्मियों में अक्सर त्वचा पर सूरज की गर्मी के कारण कालापन आ जाता है जिसको टैनिंग भी कहते हैं। टैनिंग से निजात पाना बेहद मुश्किल

गर्भावस्था में अपना ख्याल बहुत अच्छी तरह से रखने की ज़रूरत होती है, क्योंकि अगर आप स्वस्थ हैं तो गर्भ में पल रहा शिशु भी सेहतमंद होता है। ऐसे में आपकी इम्युनिटी सीधे तौर पर शिशु से जुड़ी होती है। इसलिये मां जो

जननम कम्युनिटी से जुड़ने के फायदे!

Join the #1 global parenting resource and start receiving the following helpful newsletter:

Join the community now!

Fill the following & enjoy perks!

Due Date or child's birthday