इन 7 घरेलू उपायों से आपकी आवाज़ हो जाएगी साफ़ और सुरीली

ख़ूबसूरत आवाज़ की मल्लिका लता मंगेशकर का गाया एक लोकप्रिय गीत है- मेरी आवाज़ ही पहचान है। वास्तव में आवाज़ हर व्यक्ति की पहचान होती है। ख़ासकर स्त्रियों के व्यक्तित्व में तो आवाज़ चार चांद लगा देती है, यदि वह मधुर, स्पष्ट और सुरीली हो। इसलिए हर महिला चाहती है कि उसकी आवाज़ ख़ूबसूरत बने और यदि पहले ही उसकी आवाज़ ख़ूबसूरत है, तो उसकी ख़ूबसूरती बरकरार रहे।

लेकिन अक्सर ऐसा होता है कि बदलते मौसम और ठंडा-गरम-स्पाइसी-चिकनाईयुक्त आदि खाने-पीने के चलते महिलाओं की आवाज़ प्रभावित हो जाती है। ऐसे में आयुर्वेद आपकी ख़ासी मदद कर सकता है और आप कुछ कारगर घरेलू उपायों के ज़रिए अपनी आवाज़ को फिर से दुरुस्त कर सकती हैं।

(1) अदरक (Ginger)

दो चम्मच अदरक के रस में एक चम्मच शहद मिलाकर दिन में दो से तीन बार सेवन करें। यही नहीं, इस अदरक के रस को गरम पानी में मिलाकर उसके गरारे भी कर सकती हैं। इससे आपकी आवाज़ खुल जाएगी।

इन 7 घरेलू उपायों से आपकी आवाज़ हो जाएगी साफ़ और सुरीली

(2) प्याज (Onion)

दो चम्मच प्याज के रस में शहद मिलाएं। फिर सुबह शाम उसका सेवन करें। लेकिन सावधानी इतनी रखनी है कि इसके सेवन के 1 घंटे बाद तक अन्य कुछ भी नहीं खाएं।

इन 7 घरेलू उपायों से आपकी आवाज़ हो जाएगी साफ़ और सुरीली

(3) ग्लिसरीन (Glycerin)

ग्लिसरीन को गुनगुने पानी में मिलाकर सुबह-शाम गरारे करने से भी आवाज़ खुल जाती है। ग्लिसरीन को एक अच्छा एंटीसेप्टिक माना गया है, जो कि गले के लिए बहुत फ़ायदेमंद है।

इन 7 घरेलू उपायों से आपकी आवाज़ हो जाएगी साफ़ और सुरीली

(4) अनन्नास (Pine Apple)

आयुर्वेद के अनुसार अनन्नास का रस गले के लिए काफी फ़ायदेमंद है। इसके सेवन से गले को बहुत राहत मिलती है तथा गले से संबंधित समस्याओं से छुटकारा मिलता है।

इन 7 घरेलू उपायों से आपकी आवाज़ हो जाएगी साफ़ और सुरीली

(5) सौंठ (Dry Ginger)

20 ग्राम सौंठ और 20 ग्राम मिश्री को पीस लें। फिर शहद में इसे अच्छी तरह मिलाएं। इसके बाद इनकी छोटी-छोटी गोलियां बनाकर रख लें। यह गोली थोड़ी-थोड़ी देर पर दिन में कई बार चूसें। धीरे-धीरे आप गले में आराम महसूस करने लगेंगी और आपकी आवाज़ खुलने लगेगी।

इन 7 घरेलू उपायों से आपकी आवाज़ हो जाएगी साफ़ और सुरीली

(6) मूली (Radish)

मूली के 4-5 ग्राम बीज पीसकर उसे गरम पानी के साथ फांकें। इसके अलावा, यदि मूली को खाली पेट बिना नमक के चबा-चबाकर खाया जाए या उसका रस पिया जाए, तो भी गला ठीक हो जाता है।

इन 7 घरेलू उपायों से आपकी आवाज़ हो जाएगी साफ़ और सुरीली

(7) मुलेठी (Mulethi)

बहुत ज़्यादा चटपटा, मसालेदार और चिकनाईयुक्त भोजन भी गले के लिए नुकसानदेह होता है। इससे पेट में गड़बड़ियां होती हैं और आवाज़ पर भी असर पड़ता है।

5 ग्राम मुलेठी, 5 आंवला और मिश्री के 5 टुकड़ों को एक ग्लास पानी में डालकर धीमी आंच पर उबालें। जब यह आधा बच जाए तो इस काढ़े को फूंक-फूंक कर गरम-गरम ही सेवन करें। इससे गले में आराम मिलेगा, बैठा हुआ गला खुल जाएगा और आवाज़ फिर से सुरीली हो जाएगी।

इन 7 घरेलू उपायों से आपकी आवाज़ हो जाएगी साफ़ और सुरीली

जननम कहे हां

  • मुलेठी
  • गरारे
  • सौंठ
  • अनानास
  • शहद

जननम कहे ना

  • अधिक तीखा
  • अधिक मसालेदार
  • अधिक चिकनाईयुक्त
  • अधिक ठंडा
  • अधिक खट्टा
  • अत्यधिक गरम

सारांश : सभी महिलाएं अपनी आवाज़ का इस्तेमाल हर दिन परिवार और आस-पास के लोगों के साथ संवाद करने के लिए करती हैं। घरेलू आयुर्वेदिक उपायों में अदरक, सौंठ, प्याज, मूली, अनन्नास, मुलेठी, ग्लिसरीन आदि का उपयोग करके आप सुनिश्चित कर सकती हैं कि आपकी आवाज पहले से कहीं अधिक स्पष्ट, मधुर और आत्मविश्वास से भरी हो।

आज ही जननम फेसबुक कम्युनिटी को ज्वाइन करें जहां हमारे एक्सपर्ट्स प्रेगनेंसी के हर पहलू पर टिप्स दे रहे हैं - यहाँ क्लिक करें

जननम आपको सही, सटीक और उपयोगी जानकारी उपलब्ध कराने के लिए हमेशा आपके साथ हैं। लेकिन इसी के साथ आपको डॉक्टर से सलाह लेना भी ज़रूरी है।


Other articles related to this

वसंत ऋतु में बालों में डैंड्रफ या रूसी की समस्या सबसे अधिक होती है। ऐसे में रूसी के कारण बालों का झड़...

मानसून में रूखे बाल किनारों से अलग होकर गिरने लगते हैं, लेकिन कुछ घरेलू उपचारों के ज़रिए आप इस समस्य...

हमारी आंखों से ही दुनिया रोशन है। इसे स्वस्थ रखेंगे तो खूबसूरत संसार देख पाएंगे। आयुर्वेद आंखों की स...

वैसे तो सर्दियों में त्वचा को नमी देने के लिए आप मॉइस्चराइज़र का इस्तेमाल करती ही होंगी, फिर भी अगर ...

त्वचा का रूखापन सर्दियों की सबसे बड़ी समस्याओं में से एक है। त्वचा के रूखेपन को दूर रखने के लिए हम सब...

बारिश के मौसम में घर और कपड़ों की सफाई के साथ-साथ अपने शरीर और त्वचा की सफाई रखना भी बहुत महत्वपूर्ण ...

Other articles related to this

वसंत ऋतु में बालों में डैंड्रफ या रूसी की समस्या सबसे अधिक होती है। ऐसे में रूसी के कारण बालों का झड़ना भी आम बात ही है। इसके लिए ज़रूरी है कि बालों का सही ढंग से उपचार हो। इन बेहद आसान घरेलू तरीकों से आप अपने बालों को डैंड्रफ मुक्त कर सकती हैं।

मानसून में रूखे बाल किनारों से अलग होकर गिरने लगते हैं, लेकिन कुछ घरेलू उपचारों के ज़रिए आप इस समस्या से छुटकारा पा सकती हैं। बालों के झड़ने और बालों में रूखापन आने से बचने के लिए घर में ही बने तेल, शैम्पू और कंडीशनर का उपयोग करें।

हमारी आंखों से ही दुनिया रोशन है। इसे स्वस्थ रखेंगे तो खूबसूरत संसार देख पाएंगे। आयुर्वेद आंखों की सेहत के लिए कई नुस्खे सुझाता है। जैसे,

वैसे तो सर्दियों में त्वचा को नमी देने के लिए आप मॉइस्चराइज़र का इस्तेमाल करती ही होंगी, फिर भी अगर आप सप्ताह या दस दिन में एक बार अपने चेहरे पर फेस मास्क का इस्तेमाल करें, तो आपकी त्वचा और भी अधिक

त्वचा का रूखापन सर्दियों की सबसे बड़ी समस्याओं में से एक है। त्वचा के रूखेपन को दूर रखने के लिए हम सब हर तरह के लोशन और क्रीम का इस्तेमाल करते हैं। फिर भी थोड़ी देर में त्वचा फिर से रूखी हो जाती है, क्योंकि

बारिश के मौसम में घर और कपड़ों की सफाई के साथ-साथ अपने शरीर और त्वचा की सफाई रखना भी बहुत महत्वपूर्ण है। बरसात के मौसम में होने वाली नमी की वजह से बहुत से लोगों को त्वचा पर दाने निकलने और रंग के दबने की शिकायत होती है, जो कि किसी भी फेस वाश या क्लींज़र से ठीक नहीं होता है।

जननम कम्युनिटी से जुड़ने के फायदे!

Join the #1 global parenting resource and start receiving the following helpful newsletter:

Join the community now!

Fill the following & enjoy perks!

Due Date or child's birthday