सर्दियों में रूखे बालों की देखभाल के लिए अपनाएं ये 5 तरकीबें

सर्दियों में तापमान के गिरने के साथ-साथ शरीर और त्वचा में बहुत से बदलाव आने लगते हैं। जहां त्वचा हमेशा खिंची-खिंची रहती है, वहीं बालों में अत्यधिक रूखापन आ जाता है। जिनके बालों की प्रकृति पहले से ही शुष्क होती है, उनके लिए तो और भी अधिक परेशानी खड़ी हो जाती है। तो ऐसा क्या किया जाए कि बालों में नमी भी आ जाए और बालों को कोई नुकसान भी ना पहुंचे? जवाब है, आयुर्वेदिक तरीकों से बालों की देखभाल। आयुर्वेदिक पद्धति से आप बिना अपने शरीर और त्वचा को नुकसान पहुंचाए अपने रूखे बालों को सही प्रकार का पोषण दे सकती हैं। जानिए कैसे- 

(1) अगर आपके बाल ड्राई हैं तो ध्यान रखें कि बिना तेल मालिश किये बालों को कभी ना धोएं। क्योंकि बालों को धोने पर उनमें मौजूद नमी ख़त्म हो जाती है और अगर आपके बाल रूखे हैं तब तो और भी बेजान लगने लगते हैं।

sardiyon mein rookhe baalon kee dekhabhaal ke lie apanaen ye 5 tarakeeben

(2) सिर में मालिश के लिए एक चौथाई कटोरी ऑलिव ऑयल, पांच चम्मच बादाम का तेल, दो चम्मच विटामिन ई का तेल और एक चम्मच अरंडी का तेल मिला कर उसको गुनगुना कर लें। गुनगुने तेल को बालों की जड़ों से लेकर सिरे तक लगाएं और अच्छी तरह से मालिश कर लें। इसको रात भर अपने बालों में रहने दें।

sardiyon mein rookhe baalon kee dekhabhaal ke lie apanaen ye 5 tarakeeben

(3) सप्ताह में दो बार ठन्डे पानी से बाल धोएं। अगर सर्दी बहुत अधिक पड़ रही है तो हल्के गुनगुने पानी से सिर धोएं। सिर धोने के लिए बेबी शैम्पू य हर्बल शैम्पू का इस्तेमाल करें।

sardiyon mein rookhe baalon kee dekhabhaal ke lie apanaen ye 5 tarakeeben

(4) शैम्पू के बाद कंडीशनर अवश्य ही करें। ध्यान रखें कि कंडीशनर हर्बल ही होना चाहिए। हर्बल उत्पादों में केमिकल इस्तेमाल नहीं किया जाता है, इसीलिए वो बालों के लिए हानिकारक नहीं होते।

sardiyon mein rookhe baalon kee dekhabhaal ke lie apanaen ye 5 tarakeeben

(5) सप्ताह में एक बार अपने सिर में दही और शहद का पैक लगाएं। दही प्राकृतिक कंडीशनर होता है। इसके इस्तेमाल से बालों में कुदरती रूप से नमी आ जाती है और ये बहुत मुलायम भी हो जाते हैं।

sardiyon mein rookhe baalon kee dekhabhaal ke lie apanaen ye 5 tarakeeben

जननम कहे हां

  • बालों को धोने के लिए ठन्डे या बहुत हल्के गुनगुने पानी का इस्तेमाल
  • बालों की नियमित रूप से तेल मालिश

 जननम कहे ना

  • गर्म पानी से सिर धोना
  • बालों में ब्लो ड्रायर या स्ट्रेटनर का इस्तेमाल

Summary: Home remedies can be very effective for taking care of stout hair in the winter season. For this, it is important to massage, timely cleaning and conditioning with the right hair as well as good food.

सारांश : सर्दियों के मौसम में रूखे बालों की देखभाल के लिए घरेलू उपचार अत्यधिक कारगर साबित हो सकते हैं। इसके लिए अच्छे खान-पान के साथ ही बालों की उपयुक्त तेल से मालिश, समय पर सफाई और कंडीशनिंग ज़रूरी है।

आज ही जननम फेसबुक कम्युनिटी को ज्वाइन करें जहां हमारे एक्सपर्ट्स प्रेगनेंसी के हर पहलू पर टिप्स दे रहे हैं -यहाँ क्लिक करें

जननम आपको सही, सटीक और उपयोगी जानकारी उपलब्ध कराने के लिए हमेशा आपके साथ हैं। लेकिन इसी के साथ आपको डॉक्टर से सलाह लेना भी ज़रूरी है।


Other articles related to this

वसंत ऋतु में बालों में डैंड्रफ या रूसी की समस्या सबसे अधिक होती है। ऐसे में रूसी के कारण बालों का झड़...

यूं तो बालों की अच्छी सेहत के लिए कई तरह के हर्बल और प्राकृतिक तरीके बताए जाते हैं, लेकिन हमारा खान-...

हम अपनी उम्र, मिजाज या मौसम के मिजाज के अनुसार नहाने का पानी चुनते हैं। आयुर्वेद के अनुसार, रोज़ नहा...

ख़ूबसूरत आवाज़ की मल्लिका लता मंगेशकर का गाया एक लोकप्रिय गीत है- मेरी आवाज़ ही पहचान है। वास्तव में...

मानसून में रूखे बाल किनारों से अलग होकर गिरने लगते हैं, लेकिन कुछ घरेलू उपचारों के ज़रिए आप इस समस्य...

आप अपने पहले ट्राईमेस्टर (प्रेगनेंसी के नौ महीनों के पहले तीन महीने) के आखिर तक पहुँच रही हैं और आपक...

Other articles related to this

वसंत ऋतु में बालों में डैंड्रफ या रूसी की समस्या सबसे अधिक होती है। ऐसे में रूसी के कारण बालों का झड़ना भी आम बात ही है। इसके लिए ज़रूरी है कि बालों का सही ढंग से उपचार हो। इन बेहद आसान घरेलू तरीकों से आप अपने बालों को डैंड्रफ मुक्त कर सकती हैं।

यूं तो बालों की अच्छी सेहत के लिए कई तरह के हर्बल और प्राकृतिक तरीके बताए जाते हैं, लेकिन हमारा खान-पान सबसे ज़्यादा महत्वपूर्ण है। नीचे बताये गये 7 उपायों से आप आपके सामान्य बालों को स्वस्थ, घने व मुलायम

हम अपनी उम्र, मिजाज या मौसम के मिजाज के अनुसार नहाने का पानी चुनते हैं। आयुर्वेद के अनुसार, रोज़ नहाना शरीर में स्फूर्ति और तंदुरुस्ती बनाए रखने के लिए बहुत

ख़ूबसूरत आवाज़ की मल्लिका लता मंगेशकर का गाया एक लोकप्रिय गीत है- मेरी आवाज़ ही पहचान है। वास्तव में आवाज़ हर व्यक्ति की पहचान होती है। ख़ासकर

मानसून में रूखे बाल किनारों से अलग होकर गिरने लगते हैं, लेकिन कुछ घरेलू उपचारों के ज़रिए आप इस समस्या से छुटकारा पा सकती हैं। बालों के झड़ने और बालों में रूखापन आने से बचने के लिए घर में ही बने तेल, शैम्पू और कंडीशनर का उपयोग करें।

आप अपने पहले ट्राईमेस्टर (प्रेगनेंसी के नौ महीनों के पहले तीन महीने) के आखिर तक पहुँच रही हैं और आपका शरीर अब बदलते हुए हॉर्मोन स्तरों के साथ एडजस्ट हो रहा है। तीसरे महीने के अंत तक आपके बच्चे का पूरा विकास हो चुका है।

जननम कम्युनिटी से जुड़ने के फायदे!

Join the #1 global parenting resource and start receiving the following helpful newsletter:

Join the community now!

Fill the following & enjoy perks!

Due Date or child's birthday